News

गलवान घाटी में हुतात्मा हुए दीपक की पत्नी ने पास किया आर्मी टेस्ट, देशसेवा करेंगी वीरवधू

साल 2020 में गलवान घाटी में चीन की सेना के साथ हुई भारतीय सेना की झड़प में 20 जवान हुतात्मा हो गए थे। इन हुतात्माओं में से एक नाइक दीपक सिंह की पत्नी उन आर्मी वाइव्स की लिस्ट में शामिल हो गई हैं जिन्होंने अपने पति के निधन के बाद उनके सपने को पूरा करते हुए देश सेवा को अपना लक्ष्य बनाया है।

बिहार रेजिमेंट के 16वें बटालियन के नाइक दीपक सिंह की 23 वर्षीय पत्नी रेखा देवी को लोगों ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के हाथों से दीपक की वीरता, शौर्य और देश के प्रति समर्पण के लिए उन्हें मरणोपरांत नवाजे गए वीर चक्र ग्रहण करते हुए देखा था। वीर चक्र देश का तीसरा सर्वश्रेष्ठ युद्ध के दौरान वीरता प्रदर्शन के लिए दिया जाने वाला सम्मान है। रेखा को अपने पति का वीर चक्र सम्मान 23 नवंबर,2021 को राष्ट्रपति भवन में आयोजित एक अलंकरण समारोह के दौैरान दिया गया था।

मध्य प्रदेश के रीवा में रहने वाली रेखा देवी ने इलाहाबाद में हुए पांच दिनों तक चलने वाले एसएसबी ( स्टाफ सिलेक्शन बोर्ड) को उत्तीर्ण किया है और अब उन्हें प्री कमिशन ट्रेनिंग के लिए चयनित किया गया है। इस ट्रेनिंग के बाद रेखा ऑफिसर रैंक में आर्मी का हिस्सा बनेंगी। हालांकि इन सबके पहले उन्हें मेडिकल परीक्षा पास करनी होगी। उस परीक्षा के बाद ही यूपीएससी द्वारा रिलीज किए गए ओटीए कैंडिडेट की सूची में रेखा का नाम शामिल होगा।

गौरतलब है कि रेखा ऐसी पहली महिला नहीं है जिन्होंने अपने पति के हुतात्मा होने के बाद देश के सुरक्षा बल के साथ जुड़ने का निर्णय लिया है और इसके लिए परीक्षा उत्तीर्ण की है। देश में ऐसे सैनिक जिन्होंने युद्ध के दौरान देश के लिए अपनी जान न्योछावर की है, उनकी बीवियों के लिए ये प्रवधान है कि वो बिना सीडीएस ( कंबाइन्ड डिफेंस सर्विसेस) परीक्षा में बैठे ही एस एस बी के इंटरव्यू के लिए चयनित होंगी।  

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button