NewsRSS

फ़िल्म के वैचारिक पक्ष पर चिंतन नहीं होता, सिनेटॉकीज़ के माध्यम से हम इस प्रक्रिया को आगे बढ़ाएंगे। – अभिजीत दादा गोखले

‘सिनेटॉकीज़’ पोस्टर चतुर्थ चित्रभारती फ़िल्म महोत्सव में लाँच

१३ और १४ मई २०२२ को मुंबई विश्वविद्यालय, कलीना कैम्पस में होगी संगोष्ठी

भोपाल, दि. २९ मार्च : चतुर्थ चित्रभारती फ़िल्म महोत्सव, 25 से २७ मार्च दौरान भोपाल में संपन्न  हुआ। इस महोत्सव का उद्घाटन सिनेअभिनेता अक्षय कुमार, विवेक रंजन अग्निहोत्री, प्रो. के. टी. सुरेश किया। 25 मार्च को द्वितीय मास्टर क्लास आरम्भ होने से पहले संस्कार भारती के अखिल भारतीय संगठन मंत्री श्री अभिजीत दादा गोखले ने पोस्टर लाँच किया।

अभिजीत गोखले ने विषय का परिचय देते हुए कहा, ‘जब भी हम सिनेमा की बात करते हैं तो फ़िल्म पुरस्कार समारोह या फ़िल्म महोत्सव ध्यान में आते हैं, फ़िल्म के वैचारिक पक्ष पर चिंतन नहीं होता। ‘सिनेटॉकीज़’ के माध्यम से हम इस प्रक्रिया को आगे बढ़ाएंगे। यह स्वतंत्रता का अमृत महोत्सव वर्ष है इस लिए इस बार का विषय है- ‘स्वतंत्रता आंदोलन और भारतीय सिनेमा’। इस विषय पर 2 मिनट का टीजर लॉन्च किया गया।

सिनेटॉकीज – सिने सृष्टि भारतीय दृष्टि के तहत १३ और १४ मई २०२२ को मुंबई विश्वविद्यालय, कलीना कैम्पस में यह संगोष्ठी होगी। स्वाधीनता के अमृत महोत्सव के अवसर पर संस्कार भारती, अकादमी ऑफ थिएटर आर्ट्‌स, मुंबई विश्वविद्यालय के सहयोग से द्विदिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन कर रही है।   

छात्रों की सहभागिता अधिक हो इसलिए यह सूचना मीडिया के विद्यालय तक पहुंचाने का प्रयास है।

 इस कार्यक्रम में भाग लेने के लिए sanskarbharti.org पर रेजिस्ट्रेशन की सुविधा है। पंजीकरण आवश्यक है। पोस्टर तथा पम्फलेट पर बने QR कोड से भी आप रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं।

मंच पर विवेक रंजन अग्निहोत्री, अनुपम भटनागर, अरुण शेखर ने इस प्रक्रिया को पूरा किया। सभी प्रांतों से आये प्रतिनिधियों को पोस्टर और पैम्फलेट दिए गए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button