IslamNaxalism

‘मिशन 2047’ में जुटे अतहर-अरमान ने उगले कई राज

बिहार में 15000 को आतंकी ट्रेनिंग, 12 जिलों में PFI ने बना रखे हैं टेरर सेंटर,

पॉपुलर फ्रंट ऑफ़ इंडिया द्वारा पटना के फुलवारीशरीफ में रची गई आतंकी साजिश में प्रतिदिन नई नई धक्कादायक बाते सामने आ रही हैं। पटना पुलिस की पूछताछ संदिग्ध आतंकी अतहर परवेज और अरमान मलिक ने बिहार में 15 हजार से अधिक मुस्लिम युवाओं को आतंकी ट्रेनिंग दिए जाने की बात मानी है। इनसे ही आतंकी मरगूब ने आतंकी संगठन ‘गजवा-ए-हिंद’ के स्लीपर सेल बनाये थे। जिसका उद्देश्य 2023 में देश के विरुद्ध जिहाद करना था। वहीं अब आतंक की ट्रेनिंग पाए इन युवकों के स्‍लीपर सेल की पहचान पुलिस के लिए एक बड़ी चुनौती है।

मीडिया रिपोर्ट में पुलिस के हवाले से बताया गया है कि दोनों संदिग्ध आतंकियों ने जानकारी दी है कि PFI द्वारा इन जिलों में शारीरिक शिक्षा के नाम पर मुस्लिम युवाओं को आतंक की ट्रेनिंग दी जा रही थी। बिहार में इन ठिकानों पर PFI अब तक 15000 से अधिक मुस्लिम युवाओं को अस्त्र-शस्त्र चलाने की ट्रेनिंग दे चुकी है। युवाओं को ट्रेनिंग देने के लिए राज्य के करीब 12 जिलों में ऑफिस खोला गया था। जबकि, पूर्णिया को PFI का हेडक्वार्टर बनाया गया था। देश विरोधी गतिविधियों की इस बड़े षडयन्त्र की जाँच अब NIA प्रवर्तन निदेशालय (ED) कर सकती हैं।

अब तक मिली जानकारी के अनुसार अतहर एवं अरमान मलिक ने पूछताछ में दक्षिण भारत के केरल और कर्नाटक प्रांत से आने वाले आतंक के प्रशिक्षकों के नाम उजागर किए हैं। जो बिहार में मुस्लिम युवाओं को आतंकी प्रशिक्षण दे रहे थे। कहा जा रहा है कि दोनों आतंकियों ने PFI की आड़ में दो अन्य विंग और सिमी के पूर्व सदस्यों को संगठन में जोड़ने का उद्देश्य था यह भी पुलिस को बताए हैं।

वहीं रिमांड पर लिए गए दोनों संदिग्ध आतंकियों से PFI की फंडिंग को लेकर भी कई सवाल किए गए हैं। रिपोर्ट में दावा किया जा रहा है कि, PFI के बैंक अकाउंट में करीब 90 लाख रुपए के ट्रांजेक्शन किए जाने का प्रमाण मिला है।

India vision 2047 पर कर रहे थे काम,

Related Articles

Back to top button