Islam

हिन्दू लड़कियों को फियादीन बनाने के लिए लवजेहाद को बढावा दे रहे आई एस आई एस और पी एफ आई

आई एस आई एस तथा पी एफ आई की शह पर ‘लव जेहाद ‘ द्वारा देश को लहूलुहान करने की घटनाएं शीर्ष पर हैं। वर्ष २००९ में केरल उच्च न्यायालय के सामने वहां की चर्च ने ईसाई युवतियों को कन्वर्जन कराकर मुस्लिम बनाए जाने और उनको अफगानिस्तान भेजे जाने का विषय उठाया था और कहा था कि मुसलमानों का मानना है कि काफिरों के साथ विवाह करके उनके साथ शारीरिक संबंध बनाना, उन्हें जन्नत में लेकर जाएगा, इसका फायदा आतंकी संगठन भी उठा रहे हैं। सिर्फ कर्नाटक में ही ३०००० औरतों का इस्लाम में कन्वर्जन करवाया जा चुका है, जबकि दक्षिण कन्नड़ा में हर रोज लगभग तीन महिलाएं ‘लव जिहाद’ का शिकार होती हैं। इसपर देश में पहली बार ‘लव जेहाद’ शब्द देते हुए केरल उच्च न्यायालय ने सरकार को सावधान किया था। केरल तथा कर्नाटक उच्च न्यायालयों का ऑब्ज़र्वेशन है कि लवजेहाद का उद्देश्य गैर -मुस्लिम लड़कियों को कन्वर्जन द्वारा मुसलमान बनाने के साथ -साथ गजवा -ए -हिन्द के लिए महिला जेहादी तैयार करना तथा देश की जनसंख्या का अनुपात बदलने जैसा भयावह राजनीतिक लक्ष्य भी हो सकता हैं। इसमें मुस्लिम प्रशासनिक अधिकारियों की संलिप्तता ने स्थिति की गंभीरता को बढ़ा दिया है। राष्ट्रीय महिला आयोग की चेयरपर्सन रेखा शर्मा ने पिछले दिनों महाराष्‍ट्र के गवर्नर भगत सिंह कोश्‍यारी से मुलाकात की और राज्‍य में बढ़ते ‘लव जिहाद’ के मामलों पर चिंता जताई

https://navbharattimes.indiatimes.com/india/love-jihad-origin-controversy-explained-in-bareilly-and-after-tanishq-advertisement/articleshow/78784278.cms )

‘लव जिहाद’ वैसे मामलों को कहा जाता है जहां पहचान छिपाकर लड़की को धोखा दिया गया हो। मुस्लिम युवक गैर-मुस्लिम समुदायों की लड़कियों को अपना झूठा परिचय देकर ,प्रेमजाल में फंसाते हैं। उनका उद्देश्य कन्वर्जन कराना या शारीरिक शोषण करना होता है।संगठित रूप से ‘लव जिहाद’ होता है। कुछ मदरसों को हिंदू औरतों का धर्मांतरण करवाने के लिए आतंकवादी संगठनों और इस्लामी देशों से पैसा मिल रहा है। मदरसे ‘अच्छे दिखनेवाले नौजवान मुसलमानों’ की पहचान करते हैं और उन्हें हिंदू औरतों का पीछा करने की ट्रेनिंग देते हैं। ये मदरसे इन जवान मुसलमान लड़कों को आधुनिक तरीके से कपड़े पहनने की ट्रेनिंग देते हैं और उन्हें मोबाइल फोन की दुकानें खोलने और मोटरबाइक खरीदने के लिए पैसे देते हैं, जिसका इस्तेमाल वे हिंदू लड़कियों को फंसाने के लिए करते हैं। इसका उल्लेख पिछले दिनों विधायक नीतेश राणे ने महाराष्ट्र विधानसभा में किया है।मदरसों द्वारा गैर -मुस्लिम युवतियों और किशोरियों -बच्चियों को फंसाकर उनका कन्वर्जन कराने का रेट-कार्ड भी विधानसभा की पटल पर रखकर ‘लव जेहाद’ के विरुद्ध कठोर कानून बनाने की मांग वे कर चुके हैं (देखें ऐसे ही एक रेट-कार्ड का स्क्रीनशॉट ) ।

लाइक खान ने पहले ऋतू को मारा फिर नाबालिक नीतू को हथोड़े से पीटकर मार डाला देखें https://www.youtube.com/watch?v=ebYb1C6mSM गाज़ियाबाद में शालिनी यादव २ जुलाई को निकाह किया मोहम्मद फैसल से। (देखें https://www.youtube.com/watch?v=N7rgff50PQ8)। एकता वर्मा ने मोहसिन से निकाह किया और उसको आलिया खान बना दिया कानपुर में।आमिर खान ने जुली से निकाह किया कन्वर्जन के बाद।कानपुर की एक १६ साल की लड़की को किडनैप कर उससे जबरन निकाह के बाद कोर्ट- मैरिज भी किया गया (देखें https://www.youtube.com/watch?v=N7rgff50PQ8)। दिल्ली से लव जिहाद की कोशिश करने का एक नाया मामला सामने आया है… एक मुस्लिम लड़के ने ग्यारहवीं कक्षा में पढ़ने वाली छात्रा से हिंदू बनकर सोशल मीडिया के जरिए बातचीत की…लड़के की पड़ताल की तो पता चला कि वो मुस्लिम है जिसके बाद लड़की ने लड़के से बात करना बंद कर दिया जिसके बाद लड़के ने लड़की पर गोली चला दी…वाहिद अली अपने दो अन्य दोस्तों के साथ बाइक से आया था गोली मारने, इंस्टाग्राम पर मित्रता हुई। इसमें मुस्लिम अपराधी के परिवार के लोग भी शामिल हैं पूरे परिवार को फासी होनी चाहिए

(देखें https://www.youtube.com/watch?v=ab6qImbSxCY )

केरल की कोर्ट ने यह भी कहा था कि प्रेम के नाम पर, किसी को धोखे या उसकी मर्जी के बिना धर्म बदलने पर मजबूर नहीं किया जा सकता है।भारत में दो अलग-अलग धर्म के लोग विशेष विवाह अधिनियम १९५४ , हिंदू धर्म के लोग हिंदू विवाह अधिनियम १९५५ और मुस्लिम धर्मावलंबी मुस्लिम परंपराओं के मुताबिक शादी कर सकते हैं। हालांकि गलत नाम बताने, धर्म या आयु छिपाने, वैवाहिक स्थिति छिपाने जैसी गलतियों पर भारतीय कानूनों के तहत सजा का प्रावधान है।भारतीय दंड संहिता की धारा ३६६ के तहत अपहरण के मामलों में १० साल की सजा हो सकती है। वैवाहिक मामलों में सामान्य तौर पर लड़की ही कानूनी कार्रवाई के लिए अधिकृत है लेकिन सीआरपीसी की धारा १९८ के तहत परिजन भी कार्रवाई की मांग कर सकते हैं।

अफगानिस्तान में भेजी गयी लवजेहाद की शिकार २३ युवतियों के एक मामले पर अपना ऑब्ज़र्वेशन देते हुए २००९ में केरल के एक न्यायाधीश जस्टिस केटी शंकरन ने माना था कि केरल के कुछ हिस्सों में जबरन धर्म परिवर्तन के मामले मिले हैं।उन्होने ‘लव जेहाद ‘शब्द का प्रयोग कर सरकार को चेतावनी भी दी थी।किन्तु सरकारें नहीं चेती जिसका परिणाम है देश में दुमका (झारखण्ड) की अंकिता की चिता शांत भी नहीं हुई थी कि दिल्ली के संगम विहार में अली ने दो जेहादी दोस्तों के साथ ,विद्यालय से घर जा रही हिन्दू नाबालिग लड़की को गोली मार दी।इससे पहले अली ने उस लड़की के घर के शीशे भी पत्थरों से चकनाचूर कर दिया था किन्तु शिकायत मिलने पर भी पुलिस ने सख्ती नहीं की थी।ऐसी घटनाएं रोज हो रही हैं। उत्‍तर प्रदेश का बरेली में ‘लव जिहाद’ के एक मामले को लेकर वहां थाने तक में तोड़फोड़ हो चुकी है। एक हिंदू लड़की के परिवार ने एक मुस्लिम युवक पर युवती को भगा ले जाने का आरोप लगाया जिसपर पुलिस की लापरवाही को लेकर किला थाने के बाहर मंगलवार को जमकर उत्‍पात हुआ जिसमें लाठीचार्ज हुआ, कई घायल हुए।

पुलिस और अपराधियों के विरुद्ध दुमका शहर भी सड़क पर उतर गया है। वहां धारा १४४ लागू कर दी गयी है। अंकिता के विषय में झारखण्ड पुलिस तो एक कदम आगे ही है। दुमका के डीसीपी नूर मुस्तफा ने पुलिस रेकार्ड में १६ साल २ महीने की अंकिता को १९ वर्ष का लिखा और २४ वर्षीय अपराधी शाहरुख़ हुसैन को मानसिक रोगी एवं नाबालिग लिखा है।इस मामले की जांच के लिए आज (१ सितंबर को ) राज्य सरकार ने विशेष जांच दल का गठन किया है।स्थानीय एजेंसियों की जांच में यह बात सामने आयी है कि शाहरुख़ हुसैन और उसके परिवार का पी एफ आई और आई एस आई एस के साथ संबंधों की पुष्टि हुई है।हाल के दिनों में अलवर की उजाला को सानिया बना निकाह कराया तो मेवात की विवाहित महिला सुमन का जबरन मतांतरण करवाकर उसको ‘लव जेहाद’ का शिकार बनाया गया। मुंबई की सोनम गुप्ता को शाहजेब अंसारी ने तो वल्लभगढ़ की निकिता तंवर को रेहान ने मार डाला( देखें https://www.youtube.com/watch?v=HFm-cD_1III , https://www.youtube.com/watch?v=K4BrdLmVHkI ,https://www.youtube.com/watch?v=_db0drgrwp0 ,
www.indiatvnews.com/video/lifestyle/ankita-murder-case-updates-love-jihad-shahrukh-hussain-jharkhand-hemant-soren-2022-08-30-803953 , https://www.amarujala.com/india-news/love-jihad-law-in-many-states-of-india-here-you-know-about-love-jihad-and-its-meaning , https://www.youtube.com/watch?v=kO9mvjA53T4 , https://www.youtube.com/watch?v=ebYbH1C6mSM , https://www.youtube.com/watch?v=ab6qImbSxCY , https://www.tv9hindi.com/)।

२७ अक्तूबर २०२० को राजधानी दिल्ली से सटे फरीदाबाद में दो युवकों तौसीफ और रेहान ने निकिता तोमर नाम की लड़की का अपहरण करने की कोशिश की थी। जब लड़की ने इसका विरोध किया तो आरोपी तौसीफ ने उसे गोली मार दी और निकिता की मौके पर मौत हो गई। इस घटना के बाद से कई राज्यों में लव जिहाद को लेकर जागरूकता प्रारम्भ हो गई और विरोध प्रदर्शन होने लगे। कुछ दिन बाद उत्तर प्रदेश, हरियाणा और मध्य प्रदेश सहित कई राज्यों में ‘लव जिहाद’ के खिलाफ कानून बनाने को लेकर बातचीत तेज हो गई। बता दें कि उत्तर प्रदेश और मध्यप्रदेश ने इस संबंध में मसौदा भी तैयार कर लिया है। लेकिन हिन्दुस्तान की सरकार ने इसी साल संसद में कहा था कि कानून में ऐसा कोई उल्लेख नहीं है।

२००९ में पहली बार केरल और कर्नाटक में बड़े पैमाने पर हिंदू लड़कियों के धर्म परिवर्तन के मामले सामने आए।मुस्लिम एक से ज्यादा बार विवाह कर सकते हैं। इसका उदाहरण है, एक महाराष्ट्रियन ब्राह्मण डॉक्टर/मॉडल अदिति गोवित्रिकर ने डॉक्टर मुफ्फज़ल लकड़ावाला से शादी की।वे दोनों अब अलग हो गए हैं।डॉक्टर मुफ्फज़ल ने बाद में मेजर जनरल टीके कौल की बेटी प्रियंका से शादी कर ली।’सितंबर, २०१३ में कई पत्रकारों को शीर्षक ‘कुछ तथ्य: मुस्लिम पुरुष/हिंदू स्त्री’ वाला एक ईमेल मिला था जिसमें ७३ विख्यात मुसलामानों के नाम थे जिन्होने हिंदू स्त्री से विवाह किया था। इस सूची में फिल्म निर्देशक के. आसिफ, मुजफ्फर अली, सुपरस्टार शाहरुख खान, आमिर खान, हिंदुस्तानी शास्त्रीय कलाकार उस्ताद अली अकबर खान और उस्ताद विलायत खान- के नाम थे, जिन्होंने हिंदू औरतों से शादी की हैं। ‘गायिका सुनिधि चौहान ने १८ साल की उम्र में कोरियाग्राफर अहमद खान के भाई बॉबी खान के साथ भागकर शादी की। एक साल बाद दोनों अलग हो गए।’ शास्त्रीय गायक अली अकबर खान ने कई शादियां कीं। उनकी एक पत्नी राजदुलारी देवी थीं, जो खुद एक गायिका थीं।

अब सुप्रीम कोर्ट ने मान लिया है कि लव जिहाद होता है और मुस्लिम युवक हिंदू लड़कियों को अपने प्यार के जाल में फंसाकर उनका धर्म परिवर्तन करवाकर लव जेहाद करते हैं। इसकी शुरुआत तब हुई जब केरल हाईकोर्ट ने 25 मई को हिंदू महिला अखिला अशोकन की शादी को रद्द कर दिया था। अखिला उर्फ हादिया के माता-पिता केरल हाईकोर्ट पहुंचे , जिन्होंने आरोप लगाया कि उनकी बेटी को आतंकवादी संगठन आईएसआईएस में फिदायीन बनाने के लिए लव जेहाद का सहारा लिया गया।जिसके बाद केरल हाईकोर्ट ने अखिला उर्फ हादिया और शफीन के निकाह को रद्द कर दिया।लेकिन अखिला उर्फ हादिया के पति शफीन ने केरल हाईकोर्ट के आदेश को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी। इसी मामले पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने मामले की एनआईए जांच के आदेश दिए।

सर्वोच्च न्यायालय के वरिष्ठ अधिवक्ता अश्विनी उपाध्याय कहते हैं कि हर प्रकार के जिहाद खत्म करने के लिए विशेष दर्जा विशेष स्कूल विदेशी फंडिंग बंद करना होगा ,समान शिक्षा समान नागरिक संहिता समान दंड संहिता समान न्यायिक संहिता लागू करना होगा , घुसपैठ नियंत्रण ,घूसखोरी नियंत्रण ,मतांतरण नियंत्रण, हवाला नियंत्रण, कालाधन नियंत्रण और जनसंख्या नियंत्रण कानून बनाना होगा।

Related Articles

Back to top button