National SecurityNews

नहीं रहे प्रथम रक्षा प्रमुख विपिन रावत

देश के पहले रक्षा प्रमुख विपिन रावत का हेलीकॉप्टर दुर्घटना में आज तमिलनाडु के पास कुन्नूर में निधन हो गया। उस हेलीकॉप्टर में १४ लोग सवार थे , जिनमें १३ की मृत्यु हो चुकी है। मृतकों में रक्षा प्रमुख की पत्नी मधुलिका रावत भी शामिल हैं। ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह गंभीर रूप से घायल हैं और पूरा देश उनके स्वस्थ के लिए प्रार्थना कर रहा है। दुर्घटना का कारण खराब मौसम बताया गया है। इस विषय पर कल संसद में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह वक्तव्य देंगे। इन पंक्तियों के लिखे जाने तक प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में सुरक्षा मामले की कैबिनेट कमेटी की बैठक शुरू हो चुकी है।

रक्षा प्रमुख विपीन रावत के निधन से पूरा देश स्तब्ध है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविद ने कहा है कि आज देश ने बहादुर सपूत को खो दिया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विपीन रावत को सच्चा देशभक्त बताते हुए कहा है कि देश उनके योगदानों को कभी नहीं भुला सकता। गृह मंत्री अमित शाह ने कहा है कि देश को अपूरणीय क्षति हुई है, आज देश का दुर्वभाग्यशाली दिन है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि उनका निधन देश के लिए बड़ी क्षति है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विपीन रावत के निधन पर भरी शोक व्यक्त किया है। विदेश मंत्री एस जयशंकर ,वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण सहित अनेक मंत्रियों व् नेताओं ने शोक व्यक्त किया है।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ इस दुर्भाग्यपूर्ण हादसे में दिवंगत जनरल रावत, उनकी पत्नी तथा अन्य सैनिकों के प्रति भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित करता है।

दत्तात्रेय होसबाले
सरकार्यवाह, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ

Himanshu shukla

Researcher [India-centric world]

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button