National SecurityNews

इस बार गणतंत्र दिवस पर अतिथि होंगे, ऑटो रिक्शा चालक, सफाई कर्मचारी, फ्रंटलाइन वर्कर्स


इस वर्ष गणतंत्र दिवस के मौके पर होने वाली परेड में कोई भी विदेशी मेहमान मुख्य अतिथि के तौर पर शामिल नहीं होंगे। इस बात की जानकारी केंद्र सरकार से जुड़े सूत्रों के हवाले से मिली है। सरकारी सूत्रों ने कहा है कि कोरोना महामारी के कारण इस वर्ष गणतंत्र दिवस पर मध्य एशियाई देशों से कोई विदेशी मुख्य अतिथि नहीं होगा।


इस वर्ष गणतंत्र दिवस की आमंत्रितों की सूची में ऑटो रिक्शा चालक, सफाई कर्मचारी, और फ्रंटलाइन वर्कर्स शामिल हैं। इसका उद्देश्य समाज के प्रत्येक व्यक्ति को अवसर देना है। इस साल गणतंत्र दिवस के निमंत्रण कार्ड में औषधीय बीज हैं। आयोजन के बाद, इसे फूल के गमले या बगीचे में बोया जा सकता है।

26 जनवरी 2022 को भारत अपना गणतंत्र दिवस मनाएगा। देश में हर साल इस दिन राजपथ पर गणतंत्र दिवस की परेड आयोजित होती है। लेकिन इस बार गणतंत्र दिवस की परेड सबसे अलग होने वाली है। यहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने निर्देश दिया है कि राजपथ पर गणतंत्र दिवस परेड में ऐसे लोगों को भी आमंत्रित किया जाए जिन्हें आमतौर पर मौका नहीं मिलता।

29 जनवरी को बिटिंग द रिट्रीट कार्यक्रम के दौरान ड्रोन शो होगा, 1000 ड्रोन का शो होगा। अमेरिका, रूस, चीन के बाद भारत दुनिया का ऐसा चौथा देश है जो इस पैमाने पर शो करेगा। IIT दिल्ली का स्टार्ट-अप इस ड्रोन शो को करेगा। 23 जनवरी को पीएम मोदी इंडिया गेट पर नेताजी सुभाषचंद्र बोस आपदा प्रबंधन पुरस्कार देंगे। 2019-2022 के लिए पुरस्कार दिया जाएगा। आपदा प्रबंधन के क्षेत्र में काम करने वाली संस्थाओं और व्यक्तियों को पुरस्कार दिया जाएगा। गणतंत्र दिवस परेड के लिहाज से सेंट्रल विस्टा का राजपथ वाला हिस्सा तैयार है

इसको लेकर परेड में कोई अड़चन नहीं आएगी। आपदा प्रबंधन के क्षेत्र में काम करनेवाले संस्थाओं और व्यक्तियों को पुरस्कार दिया जाएगा। व्यक्तियों के लिए पुरस्कार की धनराशि 5 लाख होगी जबकि संस्थाओं के लिए 51 लाख की राशि होगी।

दिल्ली पुलिस ने 26 जनवरी की सुरक्षा को लेकर आदेश जारी कर कई गतिविधियों में रोक लगाई है। ये रोक 20 जनवरी से लागू होंगी। गणतंत्र दिवस समारोह-2022 के अवसर पर दिल्ली एनसीआर के अधिकार क्षेत्र में पैरा लाइडर, यूएवी, यूएएस, माइक्रोलाइट विमान, दूर से संचालित विमान, गर्म हवा के गुब्बारे, छोटे आकार के संचालित विमान, क्वाडकॉप्टर या विमान से पैरा जंपिंग करने पर पूरी तरह रोक लगी। ऐसा करना भारतीय दंड संहिता की धारा 188 के तहत दंडनीय होगा। ये आदेश 15 फरवरी तक रहेगा

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button