IslamNews

लवजेहाद की भेंट चढ़ी सोनम, हत्यारा शाहजिब पकड़ा गया

मराठी प्रिंट एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया की चुप्पी  

मुंबई महानगर की एक उन्नीस वर्षीया बेटी लवजेहाद की भेंट चढ़ गयी लेकिन मराठी समाचार पत्रों और टी वी चैनलों ने उसकी कोई सुधि नहीं ली जबकि महिला आयोग ने मामले की तत्काल जांच की मांग की है। नीट की तैयारी कर रही सोनम शुक्ल की हत्या तेईस वर्षीय व्बॉयफ्रेंड शाहजिब अंसारी ने गला घोंटकर की फिर रात के अँधेरे का लाभ उठाकर लाश को समुद्र में फेंक दिया।  मलाड क्रीक में हुई इस घटना के बाद बोर में बंद लाश लहरों से तिरकर वर्सोवा घाट पर पहुँची। सह्याद्री राइट्स फोरम ने इस घटना को सबके संज्ञान में लाया।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, पीड़िता सोनम सोमवार (25 अप्रैल, 2022) शाम 4 बजे ट्यूशन के लिए घर से निकलने के बाद लापता हो गई थी। सोनम मुंबई के गोरेगाँव वेस्ट इलाके के प्रेमनगर की रहने वाली थीं। पुलिस के अनुसार, सोनम अपनी ट्यूशन नहीं गई और रात करीब 9 बजे वहाँ से निकलने से पहले अपनी एक महिला मित्र के घर चली गई।जब सोनम शुक्ला रात 9:30 बजे तक घर नहीं लौटी, तो चिंतित पिता ने उसका पता लगाने के लिए उसे फोन किया। पीड़िता के पिता ने बताया, “मेरी बेटी ने मुझसे कहा कि वह कुछ समय में घर पहुँच जाएगी क्योंकि वह अपने दोस्त के घर पर है। लेकिन जब वह रात 11.30 बजे तक नहीं पहुँची, तो मैं चिंतित हो गया और फिर से उसे कॉल लगाने की कोशिश की।”

उन्होंने बताया कि सम्भवतः रात करीब 11 बजे ही किशोरी का फोन बंद हो गया था। वहीं, १९  वर्षीय, स्नातक छात्रा, बेकरी मालिक शाहजीब अंसारी के घर गई थी।  अंसारी के साथ कथित तौर पर रिलेशनशिप में रहीं सोनम शुक्ला की उनसे तीखी नोकझोंक हुई। इसके बाद आरोपित ने उसका तार से तब तक गला घोंट दिया जब तक कि पीड़िता की मौत नहीं हो गई। फिर उसने उसके हाथ और पैर बाँध दिए, उसके शव को एक बोरे में भर दिया और फिर उसे मलाड पश्चिम में एक नाले के पास फेंक दिया।हत्यारे अंसारी को उम्मीद थी कि सोनम के शव को मछलियाँ खा जाएँगी।

बेटी के न मिलने पर सोनम के पिता ने गोरेगाँव पश्चिम पुलिस में गुमशुदगी की शिकायत दर्ज कराई। वहीं पुलिस को सोनम का क्षत-विक्षत शव गुरुवार (28 अप्रैल, 2022) को ही बरामद हो गया था, जब वह वर्सोवा के बरिस्ता लेन में किनारे लग गया था। गौरतलब है कि डीसीपी (जोन IX) मंजूनाथ सिंगे ने मामले का संज्ञान लिया था और जाँच शुरू की। वर्सोवा पुलिस ने अपने व्हाट्सएप ग्रुप पर पीड़िता की तस्वीर अपलोड की और पता चला कि गोरेगाँव पश्चिम पुलिस स्टेशन में उसके माता-पिता ने एक लड़की के लापता होने की सूचना दी थी। पुलिस ने सोनम के माता-पिता को सूचित किया, जिन्होंने पहले गुमशुदगी की शिकायत दर्ज कराई थी।

वहीं सोनम के पिता ने इस पूरे मामले में अफसोस जताते हुए कहा, “मुझे पता चला कि मेरी बेटी की हत्या कर दी गई थी जब पुलिस ने एक लड़की के क्षत-विक्षत शरीर की तस्वीर भेजी थी, लेकिन वह उसकी पहचान करने की स्थिति में नहीं थे। इसलिए, हमें कूपर अस्पताल पहुँचने के लिए कहा गया जहाँ हमने उसकी पहचान की। पुलिस ने कहा कि उसका शरीर एक बोरे में भरा हुआ था और वर्सोवा के पास राख में पड़ा मिला था।” मामले में बात करते हुए वर्सोवा पुलिस के एक अधिकारी ने कहा कि उन्हें स्थानीय सूत्रों से अंसारी के बारे में पता चला था। जिसे गिरफ्तार कर लिया गया है। अधिकारी ने कहा कि पूछताछ के दौरान ही आरोपित अंसारी टूट गया और उसने अपना अपराध कबूल कर लिया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button