News

देवर्षि नारद पुरस्कार से बारह पत्रकार सम्मानित

मुंबई १८ मई (वि सं के) . रत्नजड़ित महल में भी घुसने का मार्ग जिस प्रकार नन्हीं चीटियां ढूंढ़ लेतीं हैं उसी प्रकार पत्रकार भी कार्य करते हैं। वे बुराइयों में भी अच्छी बातो को समाज के समक्ष लाने का साहस एवं समर्पण प्रदर्शित करते हुए आवश्यकता होने पर समाज को आइना भी दिखाते हैं। यह बात महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने कही। वे विश्व संवाद केंद्र मुंबई द्वारा राजभवन में १८ मई को आहूत ‘देवर्षि नारद पत्रकारिता व समाज माध्यम पुरस्कार ‘ समारोह को सम्बोधित कर रहे थे।उन्होने अपने अध्यक्षीय भाषण में कहा कि नारद प्रथम पत्रकार थे और वे अपने इस कर्तव्य का पालन उस समय की समस्याओं के समाधान कराने के लिए किया करते थे। विश्व संवाद केंद्र ऐसे ही मूल्याधारित पत्रकारिता करनेवाले पत्रकारों की पीढ़ी तैयार कर रहा है। इस अवसर पर विश्व संवाद केंद्र मुंबई के अध्यक्ष सुधीर जोगलेकर , कार्यवाह अजय मुड़पे , राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ कोंकण प्रान्त के संघचालक डॉ सतीश मोढ़ , प्रान्त कार्यवाह विठ्ठलराव कांबले , मंत्रालय और विधिमण्डल पत्रकार संघ के अध्यक्ष मंदार पारकर आदि मान्यवर उपस्थित थे।

‘इस अवसर पर ‘पत्रकारिता जीवन गौरव पुरस्कार’ से वरिष्ठ पत्रकार प्रकाश जोशी को सम्मानित किया गया। उन्होने कहा कि अपने ४० वर्षों की पत्रकारिता के दौरान मैंने पत्रकार संगठनों के माध्यम से पत्रकारों की समस्या को सामने लाकर उनका निराकरण कराया। आज मुझे नारद पुरस्कार से सम्मानित करना मेरे कार्यों का सम्मान है। पत्रकारिता में विशेष योगदान के लिए ए बी पी माझा की वरिष्ठ समाचार- प्रस्तोता ज्ञानदा कदम को पुरस्कार प्रदान किया गया। सुश्री कदम ने कहा कि इस पुरस्कार से उनको प्रेरणा और शक्ति मिली है और दर्शकों के विश्वास , प्रेम और समर्थन से यह पुरस्कार उनको मिला है।        

विश्व संवाद केंद्र मुंबई द्वारा हर वर्ष पत्रकारिता के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान करने के लिए ‘देवर्षि नारद पुरस्कार ‘ प्रदान किया जाता है।  इस वर्ष यह पुरस्कार श्री प्रकाश जोशी एवं सुश्री ज्ञानदा कदम के साथ -साथ उत्कृष्ट फोटो जर्नलिस्ट पुरस्कार लोकसत्ता के दीपक जोशी ,उत्कृष्ट व्यंगचित्रकार ( कार्टूनिस्ट ) पुरस्कार सकाल के आलोक निरंतर ,उत्कृष्ट समाचार विश्लेषक पुरस्कार घनघोर यु ट्यूब चैनल के अश्विन अघोर को प्रदान किया गया।  
इनके अलावा वेबपोर्टल पत्रकारिता के लिए न्यूज डंका डॉट कॉम के मुख्य सम्पादक दिनेश कानजी और मुंबई विश्वविद्यालय  के गरवारे इंस्टीट्यूट में मराठी विभाग के गुणवंत विद्यार्थी प्राजक्ता हरदास हिला को दिया गया।

इस वर्ष पहली बार नारद समाज माध्यम पुरस्कार सोशल मीडिया में प्रभावी काम करनेवालों को प्रदान किया गया। इस क्रम में ट्वीटर माध्यम द्वारा मराठी युवजन को रोजगार सम्बन्धी जानकारियां देनेवाले शांतनु दलाल, महाराष्ट्र के किलों का इतिहास इंस्टाग्राम के माध्यम से युवाओं तक पहुंचानेवाले श्री आकाश नलावडे ,भारतीय इतिहास पर शोधपरक लेख यूट्यूब के माध्यम से प्रसारित करने के लिए अभिजीत चावड़ा ,भारतीय इतिहास -परम्परा – प्रकृति व मानवीय अचरज विषयों पर जानकारी फेसबुक के माध्यम से प्रस्तुत करनेवाले श्री अभिराज राज्याध्यक्ष और सुश्री नियति माविंकुरे की जोड़ी को पुरस्कृत किया गया। इनको सभी को स्मृतिचिन्ह, मानधन, शॉल तथा श्रीफल पुरस्कार के रूप में प्रदान किये गए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button